Hot Widget

Type Here to Get Search Results !

Quiz 01 | Biology GK | General Knowledge MCQ Questions with Answers

Biology GK (General Knowledge) MCQ Questions with Answers (Quiz 01)

Biology GK (General Knowledge) MCQ Questions with Answers (Quiz 01): अगर आप किसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, तो जनरल नॉलेज को अच्छी करना ( या अच्छी तरह से याद रखना ) बेहद जरूरी है । तो चलिए जानते हैं कौन-से सवाल जो आएंगे आपके काम – 


सभी प्रश्‍नों के उत्‍तर याद करना सभी के लिए लगभग असंभव है, आज हम आपको बता रहे हैं उन सभी खास प्रश्‍नों को उनके उत्‍तर के साथ जो प्रतियोगी परिक्षाओं से लेकर जॉब इंटरव्‍यू में ज्‍यादातर पूछे जाते हैं । अगर आपको इन प्रश्‍नों के उत्‍तर पता हैं तो आपकी मुश्‍किलें हल हो जाएंगी ।
 

1. मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि कौन सी है?

(A) लार ग्रंथि

(B) थायरॉइड

(C) यकृत

(D) आमाशय

(C) यकृत

यकृत (लीवर) शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि कहलाती है। प्लीहा, अग्न्याशय, अंडग्रंथि, डिंबग्रंथि - इन सबकी ग्रंथियों में ही गणना की जाती है। आमाशय की भित्तियों में बहुसंख्या में स्थित पाचनग्रंथियाँ जठर रस का निर्माण करती हैं। इसी प्रकार सारे क्षुद्रांत की भित्तियों में स्थित असंख्य ग्रंथियाँ भी रसोत्पादन करती हैं, जो आंत्र के भीतर पहुँचकर पाचन में सहायक होता है। कर्णमूल, जिह्वाघर तथा अधोहनु ग्रंथियाँ लालारस बनाती हैं, जिसका मुख्य काम कार्बोहाइड्रेट को पचाकर ग्लूकोज़ या डेक्सट्रोज़ बनाना है। त्वचा भी असंख्य सूक्ष्म ग्रंथियों से परिपूर्ण है, जो स्वेद (पसीना) तथा त्वग्वसा (Sebum) बनाती हैं।

2. मनुष्य में मादा जनन अंग से किस हॉर्मोन का स्त्राव होता है?

(A) एस्ट्रोजन

(B) प्रोजेस्टरॉन

(C) रिलैक्सिन

(D) सभी कथन सत्य है

(D) सभी कथन सत्य है

एच सी जी (ह्यूमन कोरिओनिक गोनाडोट्रोपिन) हार्मोन, रिलैक्सिन हार्मोन , एसट्रोजन हार्मोन, प्रोजेस्टेरोन हार्मोन मादा जनन अंग से निकलते हैं।

3. मनुष्य में ऐच्छिक गतियों का नियंत्रण किसके द्वारा होता है?

(A) सेरेब्रम

(B) थायराइड

(C) सेरिबैलम

(D) इनमें से कोई नहीं

(A) सेरेब्रम

मनुष्य में ऐच्छिक गतियों का नियंत्रण सेरेब्रम द्वारा होता है। 

सेरेब्रम (Cerebrum) मस्तिष्क का सबसे बड़ा हिस्सा है, जो मानव शरीर की विभिन्न कार्यक्षमताओं और महत्वपूर्ण प्रणालियों के लिए ज़िम्मेदार है। सेरेब्रम (Cerebrum) मस्तिष्क के प्रमुख हिस्सों में से एक है, जिसे दो हिस्सों में बांटा गया है, जिसे दाहिने गोलार्द्ध और बाएं गोलार्द्ध के रूप में जाना जाता है। शरीर के आकार के आधार पर, सेरेब्रम मुख्य रूप से मस्तिष्क के तने के सामने या ऊपर स्थित होता है। 

निश्चित रूप से, हमारे बहुआयामी मस्तिष्क को तीन प्रमुख भागों में बांटा गया है जो – सेरेब्रम, मस्तिष्क तंत्र और सेरिबैलम हैं। मानव शरीर कई बड़े और प्रमुख कार्यों को करने में सक्षम है जैसे तार्किक रूप से सोचने और कारणों को लागू करना जिसमें सेरेब्रम (Cerebrum) एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

4. मानव मस्तिष्क का कौन सा भाग तापमान को नियंत्रित करता है?

(A) स्पाइनल कॉर्ड

(B) सेरिबैलम

(C) हाइपोथैलेमस

(D) पिट्यूटरी

(C) हाइपोथैलेमस

सही उत्तर हाइपोथैलेमस ग्रंथि है। हाइपोथैलेमस (Hypothalamus) मस्तिष्क में थैलेमस के नीचे स्थित होता है। हाइपोथैलेमस (Hypothalamus) मस्तिष्क का वह हिस्सा है जो शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। यह आंतरिक और बाहरी उत्तेजनाओं पर प्रतिक्रिया करता है और शरीर को 98.6 डिग्री के एक या दो डिग्री के भीतर रखने के लिए समायोजन करता है।

5. अमीबा में भोजन का अंतर्ग्रहण किसके द्वारा होता है?

(A) कूटपाद

(B) कोशिका मुहँ

(C) सीलिया

(D) गुदाद्वार

(A) कूटपाद

जीवित अमीबा (Amoeba) बहुत सूक्ष्म प्राणी है, यद्यपि इसकी कुछ जातियों के सदस्य 1/2 मि.मी. से अधिक व्यास के हो सकते हैं। संरचना में यह जीवरस (प्रोटोप्लाज्म) के छोटे ढेर जैसा होता है, जिसका आकार निरंतर धीरे-धीरे बदलता रहता है। कोशिकारस बाहर की ओर अत्यंत सूक्ष्म कोशाकला (प्लाज़्मालेमा) के आवरण से सुरक्षित रहता है। स्वयं कोशारस के दो स्पष्ट स्तर पहचाने जा सकते हैं - बाहर की ओर का स्वच्छ, कणरहित, काँच जैसा, गाढ़ा बाह्य रस तथा उसके भीतर का अधिक तरल, धूसरित, कणयुक्त भाग जिसे आंतर रस कहते हैं। आंतर रस में ही एक बड़ा केंद्रक भी होता है। संपूर्ण आंतर रस अनेक छोटी बड़ी अन्नधानियों तथा एक या दो संकोची रसधानियों से भरा होता है। प्रत्येक अन्नधानी में भोजनपदार्थ तथा कुछ तरल पदार्थ होता है। इनके भीतर ही पाचन की क्रिया होती है। संकोचिरसधानी में केवल तरल पदार्थ होता है। इसका निर्माण एक छोटी धानी के रूप में होता है, किंतु धीरे-धीरे यह बढ़ती है और अंत में फट जाती है तथा इसका तरल बाहर निकल जाता है। 

अमीबा (Amoeba) की चलनक्रिया बड़ी रोचक है। इसके शरीर के कुछ अस्थायी प्रवर्ध निकलते हैं जिनको कूटपाद (नकली पैर) कहते हैं। पहले चलन की दिशा में एक कूटपाद निकलता है, फिर उसी कूटपाद में धीरे-धीरे सभी कोशारस बहकर समा जाता है। इसके बाद ही, या साथ साथ, नया कूटपाद बनने लगता है। हाइमन, मास्ट आदि के अनुसार कूटपादों का निर्माण कोशारस में कुछ भौतिक परिवर्तनों के कारण होता है। शरीर के पिछले भाग में कोशारस गाढ़े गोदं की अवस्था (जेल स्थिति) से तरल स्थिति में परिवर्तित होता है और इसके विपरीत अगले भाग में तरल स्थिति से जेल स्थिति में। अधिक गाढ़ा होने के कारण आगे बननेवाला जेल कोशिकारस को अपनी ओर खींचता है।

6. निम्न में कौन-सा एंजाइम लार में पाया जाता है?

(A) पेप्सिन

(B) ट्रिप्सिन

(C) टाइलिन

(D) काइमोट्रिप्सिन

(C) टाइलिन

सही उत्तर टायलिन है। लार में एंजाइम लाला एमाइलेज (सलैवरी एमाइलेज) या टायलिन होता है, जो कार्बोहाइड्रेट (स्टार्च) का पाचन करता है। 

लार ग्रंथियां हमारे मुंह में मौजूद एक ऐसा अंग हैं जो लार बनाती है। यह केवल स्तनधारियों में पाई जाती है। यह एक एक्सोक्राइन ग्रंथि है जो शरीर के बाहर या शरीर के गुहा के भीतर पदार्थों को निकालती है। लार में बलगम, लवण, जीवाणुरोधी यौगिक, एंजाइम और पानी के साथ विभिन्न रसायन शामिल होते हैं जो मुंह में पीएच को नियंत्रित करते हैं। क्या आप जानते हैं कि जब हम किसी स्वादिष्ट भोजन को देखते है या सोचते है तो लार की मात्रा बढ़ जाती है? परन्तु जब हम सोते है तो यह घट जाती है। मूल रूप से, लार एक जल पदार्थ है और पाचन तंत्र का एक हिस्सा है। लार ग्रंथियां 24 घंटे में लगभग 1 से 1.5 लीटर तक लार को स्रावित करती हैं। वास्तव में 99% लार में पानी होता है। यह मुंह को नम और स्वच्छ रखता है, चबाने, निगलने और पाचन प्रक्रिया में मदद करता है।

7. वह प्रक्रिया जिसके द्वारा मनुष्य श्वास ग्रहण करता है तथा छोड़ता है वह है?

(A) श्वसन

(B) श्वासोच्छवास

(C) प्रश्वास

(D) निःश्वसन

(B) श्वासोच्छवास

श्वसन तंत्र (respiratory system) या 'श्वासोच्छ्वास तंत्र' में सांस संबंधी अंग जैसे नाक, स्वरयंत्र (Larynx), श्वासनलिका (Wind Pipe) और फुफ्फुस (Lungs) आदि शामिल हैं। शरीर के सभी भागों में गैसों का आदान-प्रदान (gas exchange) इस तंत्र का मुख्य कार्य है।

8. ऊर्जा उत्पादन के लिए कोशिका प्रायः किसका उपयोग करती है?

(A) अमीनो अम्ल

(B) ग्लूकोज

(C) वसा अम्ल

(D) सुक्रोज

(B) ग्लूकोज

कोशिकाओं में कई जैविक अणु होते है जिन्हें शक्ति देने का काम माइटोकॉन्ड्रिया (Mitochondria) का होता है। ये ग्लूकोज को कुछ रासायनिक प्रतिक्रियाओं द्वारा ऑक्सीडाइज करते है और ऊर्जा का उत्पादन करते है। 

माइटोकॉन्ड्रिया (Mitochondria) का कार्य कोशिका के लिए ऊर्जा उत्पन्न करना है। कोशिकाएं ऊर्जा के लिए एक विशेष अणु का उपयोग करती हैं जिसे एडेनोसिन ट्राइफॉस्फेट (एटीपी) कहा जाता है। इस प्रकार माइटोकॉन्ड्रिया को कोशिका का पावरहाउस कहा जाता है। 

उन्हें ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि वे एटीपी का उत्पादन करते हैं, एक ऊर्जा-सघन अणु जो एक जीवित जीव में अधिकांश सेलुलर प्रक्रियाओं को शक्ति प्रदान करने के लिए जिम्मेदार होता है। जब कोशिका को अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती है, तो माइटोकॉन्ड्रिया (Mitochondria) बड़ा होकर और फिर विभाजित होकर प्रजनन कर सकता है।

9. किस अभिक्रिया द्वारा पोधें में ऑक्सीजन बाहरी वातावरण से कोशिकाओं में पहुँचता है?

(A) किण्वन

(B) विसरण

(C) दहन

(D) प्रकाशसंश्लेषण

(B) विसरण

विसरण अभिक्रिया द्वारा पोधें में ऑक्सीजन बाहरी वातावरण से कोशिकाओं में पहुँचता है। सभी वस्तुएँ, ठोस, द्रव और गैसें, बड़े सूक्ष्म कणों से बनी हुई हैं। सबसे छोटे कणों को अणु (molecules) कहते हैं। अणु पदार्थों में सतत गतिशील रहते हैं। इनकी गतियाँ बहुत कुछ ताप पर भी निर्भर करती हैं। विसरण एक अपरिवर्तनीय क्रिया है, जिसमें पदार्थों के स्वाभाविक बहाव से सांद्रण का अंतर कम होता रहता है।

10. श्वसन की अभिक्रिया में खाद्य पदार्थों की परिणति क्या होती है?

(A) विघटन

(B) दहन

(C) परिवर्तन

(D) संश्लेषण

(A) विघटन

श्वसन की अभिक्रिया में खाद्य पदार्थों की परिणति विघटन होती है। ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में कार्बनिक पदार्थों को गरम करने पर वे रासायनिक रूप से विघटित (decompose) हो जाते हैं। इस प्रक्रिया को ताप-विघटन (Pyrolysis) कहते हैं। पूर्ण रूप से ऑक्सीजन - मुक्त वातावरण निर्मित करना सम्भव नहीं है क्योंकि सभी पदार्थों में कुछ न कुछ ऑक्सीजन उपस्थित होती है। इस कारण थोड़ा सा ऑक्सीकरण भी हो जाता है। यह प्रक्रिया प्लास्टिक और रबर अपशिष्ठ पदार्थो के विघटन के लिए उपयुक्त होता है।

11. खाद्य पदार्थों का पोधें में स्थानांतरण का मुख्य रूप कौन-सा है?

(A) ग्लूकोज

(B) स्टार्च

(C) सुक्रोज

(D) प्रोटीन

(C) सुक्रोज

पौधों में खाद पदार्थों का स्थानांतरण सुक्रोस (Sucrose) के रूप में होता है। पौधों में भोज्य पदार्थों की स्थानान्तरण विधि - पत्तियों द्वारा निर्मित भोज्य पदार्थों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिए जिस पदार्थ का प्रयोग किया जाता है, उसे फ्लोएम कहते हैं। पत्तियों द्वारा निर्मित कार्बनिक भोज्य पदार्थ एक विलयन के रूप में तने एवं जड़ में स्थानांतरित किया जाता है।

12. एक स्वस्थ मनुष्य का रक्तचाप कितना होता है?

(A) 90/60

(B) 120/80

(C) 200/130

(D) 140/160

(B) 120/80

Blood pressure या रक्तचाप रक्तवाहिनियों में बहते रक्त द्वारा वाहिनियों की दीवारों पर डाले गए दबाव को कहते हैं। धमनी वह नलिका होती हैं जो रक्त को हृदय से शरीर के विभिन्न हिस्सों तक ले जाती हैं। हृदय रक्त को धमनियों में पंप करता है। किसी भी व्यक्ति का रक्तचाप सिस्टोलिक और डायस्टोलिक रक्तचाप के रूप में जाना जाता है। जैसे 120/80 सिस्टोलिक अर्थात ऊपर की संख्या धमनियों में दाब को दर्शाती है। इसमें हृदय की मांसपेशियां संकुचित होकर धमनियों में रक्त को पंप करती है। 

डायस्टोलिक रक्तचाप अर्थात नीचे वाली संख्या धमनियों में उस दाब को दर्शाती है जब संकुचन के बाद हृदय की मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं। रक्तचाप उस समय अधिक होता है जब हृदय रक्त को धमनियों में पंप करता है। एक स्वस्थ व्यक्ति का सिस्टोलिक रक्तचाप 90 और 120 मिलीमीटर के बीच होता है। सामान्य डायस्टोलिक रक्तचाप 60 से 80 मिमी के बीच होता है। 

रक्तचाप संबंधी दो प्रकार की समस्याएं होती हैं - एक निम्न रक्तचाप और दूसरी उच्च रक्तचाप।

13. मनुष्य के मस्तिष्क की सबसे बाहरी झिल्ली कौन सी है?

(A) पाया मैटर

(B) मैटर

(C) ड्यूरा मैटर

(D) एरेक्नाइड मैटर

(C) ड्यूरा मैटर

ड्यूरा मैटर: यह मस्तिष्क की एक मजबूत, मोटी बाहरी परत है। 

एरेक्नाइड मैटर: मध्य झिल्ली प्रमस्तिष्क की सतह पर एक अव्यवस्थित मस्तिष्क बनाती है। 

पाया मैटर: मस्तिष्क की आंतरिक झिल्ली में कोशिकाओं को पोषण देने के लिए तंत्रिका और रक्त वाहिकाएं होती हैं।

14. मनुष्य के मस्तिष्क का वजन कितना होता है?

(A) 1,000 - 1,200 ग्राम

(B) 1,300 - 1,400 ग्राम

(C) 800 - 1,000 ग्राम

(D) इनमें से कोई नहीं

(B) 1,300 - 1,400 ग्राम

वयस्क मानव मस्तिष्क का वजन लगभग 3 पाउंड (1,300 - 1,400 ग्राम) होता है। वयस्क मानव मस्तिष्क शरीर के कुल वजन का लगभग 2% है। एक नवजात शिशु के मस्तिष्क का वजन लगभग 350 से 400 ग्राम होता है। 

विस्तार से जानने के लिए … 

सामान्य तौर पर मनुष्य के मस्तिष्क का वजन उसके शरीर के वजन का 2% होता है। 

चाहे हम बच्चों की बात कर रहे हो , या युवा मनुष्य की 

चाहे या फिर वयस्क व्यक्ति की … 

उस मनुष्य के मस्तिष्क का वजन होगा उसके शरीर के वजन का 2 % के लगभग ही … ।

15. मनुष्य के मस्तिष्क में बुद्धि और चतुराई का केंद्र क्या है?

(A) सेरिबैलम

(B) हाइपोथैलेमस

(C) सेरेब्रम

(D) स्पाइनल कॉर्ड

(C) सेरेब्रम

मनुष्य में ऐच्छिक गतियों का नियंत्रण सेरेब्रम द्वारा होता है। 

सेरेब्रम (Cerebrum) मस्तिष्क का सबसे बड़ा हिस्सा है, जो मानव शरीर की विभिन्न कार्यक्षमताओं और महत्वपूर्ण प्रणालियों के लिए ज़िम्मेदार है। सेरेब्रम (Cerebrum) मस्तिष्क के प्रमुख हिस्सों में से एक है, जिसे दो हिस्सों में बांटा गया है, जिसे दाहिने गोलार्द्ध और बाएं गोलार्द्ध के रूप में जाना जाता है। शरीर के आकार के आधार पर, सेरेब्रम मुख्य रूप से मस्तिष्क के तने के सामने या ऊपर स्थित होता है। 

निश्चित रूप से, हमारे बहुआयामी मस्तिष्क को तीन प्रमुख भागों में बांटा गया है जो – सेरेब्रम, मस्तिष्क तंत्र और सेरिबैलम हैं। मानव शरीर कई बड़े और प्रमुख कार्यों को करने में सक्षम है जैसे तार्किक रूप से सोचने और कारणों को लागू करना जिसमें सेरेब्रम (Cerebrum) एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies