Hot Widget

Type Here to Get Search Results !

Quiz 05 | Chemistry GK | General Knowledge MCQ Questions with Answers

Chemistry GK (General Knowledge) MCQ Questions with Answers (Quiz 05)

Chemistry GK (General Knowledge) MCQ Questions with Answers (Quiz 05): अगर आप किसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, तो जनरल नॉलेज को अच्छी करना ( या अच्छी तरह से याद रखना ) बेहद जरूरी है । तो चलिए जानते हैं कौन-से सवाल जो आएंगे आपके काम – 


सभी प्रश्‍नों के उत्‍तर याद करना सभी के लिए लगभग असंभव है, आज हम आपको बता रहे हैं उन सभी खास प्रश्‍नों को उनके उत्‍तर के साथ जो प्रतियोगी परिक्षाओं से लेकर जॉब इंटरव्‍यू में ज्‍यादातर पूछे जाते हैं । अगर आपको इन प्रश्‍नों के उत्‍तर पता हैं तो आपकी मुश्‍किलें हल हो जाएंगी ।
 

1. ताम्र एवं टीन के मिश्रधातु को क्या कहते हैं?

(A) पीतल

(B) डयूरालुमिन

(C) कांस्य

(D) सोलडर

(C) कांस्य

कांस्य एक मिश्र धातु है जिसमें कॉपर और टिन के प्रमुख घटक होते हैं और तांबा 85% तक होता है और शेष 12% फॉस्फोरस जैसी ट्रेस धातुओं के साथ होता है। मिश्र धातु दो या दो से अधिक धातुओं या धातुओं और अधातुओं का सजातीय मिश्रण है।

2. कौन-सा अधातु कमरे के ताप पर द्रव होता है?

(A) पारा

(B) ऐलुमिनियम

(C) ब्रोमीन

(D) ताँबा

(C) ब्रोमीन

ब्रोमीन आवर्त सारणी (periodic table) के सप्तम मुख्य समूह का तत्व है और सामान्य ताप पर केवल यही अधातु द्रव अवस्था में रहती है। इसके दो स्थिर समस्थानिक (isotopes) प्राप्य हैं, जिनकी द्रव्यमान संख्याएँ 79 और 81 है। इसके अतिरिक्त इस तत्व के 11 रेडियोधर्मी समस्थानिक निर्मित हुए हैं, जिनकी द्रव्यमान संख्याएँ 75, 76, 77, 78, 80, 82, 83, 84, 85, 86 और 88 हैं।

3. सीसा और टिन के मिश्र धातु को क्या कहते हैं?

(A) स्टील

(B) उपधातु

(C) गन मेटन

(D) सोल्डर

(D) सोल्डर

सोल्डर सीसा और टिन का मिश्रधातु है। इसमें 50 प्रतिशत लेड और 50 प्रतिशत टिन होता है। सोल्डर के गुणों में सुधार करने के लिए मिश्रण में कई बार विभिन्न अन्य तत्वों का उपयोग किया जाता है। यह नलसाजी में जोड़ों को सील करने और बिजली के कनेक्शन बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।

4. कार्बन का कौन-सा अपरूप अधिक कठोर होता है?

(A) ग्रेफाइट

(B) हीरा

(C) कोयला

(D) काजल

(B) हीरा

इसके विविध गुणों वाले कई बहुरूप हैं जिनमें हीरा, ग्रेफाइट काजल, कोयला प्रमुख हैं। इसका एक अपरूप हीरा जहाँ अत्यन्त कठोर होता है वहीं दूसरा अपरूप ग्रेफाइट इतना मुलायम होता है कि इससे कागज पर निशान तक बना सकते हैं। हीरा विद्युत का कुचालक होता है एवं ग्रेफाइट सुचालक होता है। इसके सभी अपरूप सामान्य तापमान पर ठोस होते हैं एवं वायु में जलकर कार्बन डाइ-आक्साइड गैस बनाते हैं।

5. कॉपर को वायु में जलाने पर कौन सा यौगिक बनता है?

(A) कॉपर हाइड्रॉक्साइड

(B) कॉपर हाइड्राइड

(C) कॉपर ऑक्साइड

(D) कुछ नहीं

(C) कॉपर ऑक्साइड

कॉपर ही एक भूरे रंग का चमकदार तत्व है जो वायु की उपस्थिति में गर्म करने पर काले रंग का हो जाता है, क्योंकि यह O2 के साथ अभिक्रिया करके कॉपर ऑक्साइड बनाता है। 

ऊष्मा 

2Cu (s)   +   O2 (g)   →   2CuO (s) 

कॉपर             ऑक्सीजन        कॉपर (II) ऑक्साइड 

(वायु में)                             (काला)

6. सिलिकॉन क्या है?

(A) उपधातु

(B) धातु

(C) अधातु

(D) इनमें से कोई नहीं

(A) उपधातु

सिलिकॉन एक उपधातु है। सिलिकॉन पृथ्वी पर ऑक्सीजन के बाद सबसे अधिक मात्रा में पाया जाने वाला तत्व है। यह एक उपधातु है। पहले सिलीकान डाइऑक्साइड व सिलिकॉन को तत्व माना जाता था। बाद में प्रयोगों द्वारा यह पता चला कि सिलिकॉन तत्व ना होकर एक ऑक्साइड योगिक है। इस तरह यह एक उपधातु है। सिलिकॉन रेत अथवा सिलिकेट्स के रूप में पत्थरों, मिट्टी तथा खनिज पदार्थों में पाया जाता है। अनेक तरह के पौधों तथा पशु-पक्षियों के शरीर में भी सिलिकॉन पाया जाता है।

7. धातुओं को पीटकर पतली चादर बनाई जा सकती है। इस गुण को क्या कहते है?

(A) कठोरता

(B) आघातवर्धनीयता

(C) चालकता

(D) सक्रियता

(B) आघातवर्धनीयता

किसी पदार्थ को दबाने पर (या संपीडक प्रतिबल की स्थिति में) विकृत होकर दाब के लम्बवत दिशा में फैलने का गुण आघातवर्धनीयता (Malleability) कहलाता है। आघातवर्धनीय पदार्थों को हथौड़े से पीटकर या बेलकर (रोलिंग करके) आसानी से चपटा किया जा सकता है। धातुएँ प्रायः आघातवर्धनीय हैं। सोना, लोहा, अलुमिनियम, ताँबा, पीतल, चाँदी, सीसा आदि आघातवर्धनीय हैं। आधुनिक आवर्त सारणी के १ से १२ तक के समूहों के तत्त्व आघातवर्ध्य हैं।

8. अगर किसी मिश्र धातु में एक धातु पारद है, तो उसे क्या कहते हैं?

(A) पारद मिश्रधातु

(B) आयरन मिश्रधातु

(C) अमलगम

(D) जिंक मिश्रधातु

(C) अमलगम

पारा या पारद (संकेत: Hg) अनेक धातुओं से मिलकर मिश्रधातु बनाता है, जिन्हें अमलगम (amalgam) कहते हैं। सोडियम तथा अन्य क्षारीय धातुओं के अमलगम अपचायक (reducing agent) होने के कारण अनेक रासायनिक क्रियाओं में उपयोगी सिद्ध हुए हैं।

9. लोहे पर भाप की अभिक्रिया से कौन-सा गैस उत्पन्न होता है?

(A) हाइड्रोजन गैस

(B) ऑक्सीजन गैस

(C) अमोनिया गैस

(D) नाइट्रोजन गैस

(A) हाइड्रोजन गैस

आयरन और कुछ धातुएं न तो शीतल जल के साथ और न ही गरम जल के साथ अभिक्रिया करती हैं। लेकिन भाप के साथ अभिक्रिया करके यह धातु ऑक्साइड तथा हाइड्रोजन बनाती है।

10. निम्न में कौन सा गुण कार्बनिक यौगिकों में प्रायः नहीं होता है?

(A) जल में विलयेता

(B) निम्न द्रवणांक

(C) ज्वलनशीलता

(D) सभी

(A) जल में विलयेता

कार्बनिक यौगिकों के निम्नांकित गुण हैं: 

(i) अधिकांश कार्बनिक यौगिक अच्छे विद्युत के चालक नहीं होते हैं। 

(ii) इनके गलनांक एवं क्वथनांक निम्न होते हैं। 

(iii) इनके परमाणुओं के बीच प्रबल आकर्षण बल नहीं होते हैं। 

(iv) इन यौगिकों के आबंध से आयन की उत्पत्ति नहीं होती है। 

(v) ये जल में घुलनशील नहीं होते हैं लेकिन पेट्रोल, डीजल, कार्बन डाइसल्फाइड जैसे-कार्बनिक पदार्थों में घुलनशील होते हैं।

11. निम्न में से कौन विद्युत का सुचालक है?

(A) एथनॉल

(B) ग्रेफाईट

(C) हीरा

(D) एल्कीन

(B) ग्रेफाईट

ग्रेफाईट अणु में प्रत्येक कार्बन परमाणु केवल तीन अन्य कार्बन परमाणुओं से बंधित (bonded) होता है जिसके कारण एक इलेक्ट्रान मुक्त होता है और वह स्वत्रन्त्र विचरण कर सकता है। इसी मुक्त इलेक्ट्रान के कारण ग्रेफाईट में विद्युत् धारा प्रवाहित होती है जिससे कि ग्रेफाईट विद्युत् का सुचालक होता है।

12. निम्न में से कौन कार्बन के अपरूप है?

(A) हीरा

(B) कोयला

(C) ग्रेफाइट

(D) सभी

(D) सभी

हीरा और ग्रेफाइट, कार्बन के दो प्रमुख अपरूप हैं ; ये दोनो एक ही तत्व के शुद्ध रूप होने के बावजूद, संरचना में अलग-अलग होते हैं। जैसे कार्बन के विभिन्न अपरूप हीरा (डायमंड), ग्रेफाइट, कोयला (कोल), कोक, चारकोल या काष्ठकोयला, अस्थिकोयला (बोनब्लैक), काजल, कार्बन ब्लैक, गैस कार्बन और पेट्रोलियम कोक तथा चीनी कोयला, इत्यादि हैं। कार्बन के अतिरिक्त आक्सीजन, गंधक, फॉस्फोरस आदि भी अपरूपों में पाए जाते हैं।

13. निम्न में से कौन अल्कोहल पेय के लिए उपयुक्त है?

(A) मेथनॉल

(B) एथेनॉल

(C) हेक्सेनॉल

(D) प्रोपेनॉल

(B) एथेनॉल

इथेनॉल और पानी अधिकांश मादक पेय पदार्थों के मुख्य घटक हैं, हालांकि कुछ बहुत मीठे लिकर में चीनी की मात्रा इथेनॉल सामग्री से अधिक हो सकती है। इथेनॉल (CAS Reg. No. 64–17–5) अल्कोहल युक्त पेय पदार्थों में खमीर के साथ कार्बोहाइड्रेट के किण्वन के परिणामस्वरूप मौजूद होता है।

14. कार्बन क्या है?

(A) अधातु

(B) धातु

(C) उपधातु

(D) इनमें से कोई नहीं

(A) अधातु

कार्बन एक अधातु है, इसका रासायनिक प्रतिक चिन्ह C है तथा परमाणु क्रमांक 6 है। प्राकृतिक रूप से इसके समस्थानिकों की संख्या तीन है जो 12 C, 13 C तथा 14 C हैं। इसका इलेक्ट्रोनिक विन्यास 2, 4 है तथा संयोजकता 4 है इसलिए यह चतुर्संयोजक है। भोजन, कपड़े, दवाइयाँ, पुस्तकें या अन्य बहुत सी वस्तुएं जिसे आप सूचीबद्ध कर सकते हैं सभी इस सर्वतोमुखी तत्व कार्बन पर आधारित है। दुसरे शब्दों में, सभी सजीव आकृतियाँ कार्बन से बनी हैं। कार्बन की उपस्थिति : कार्बन प्रकृति में बहुत ही अधिक संख्या में यौगिकें बनाता है। भुपर्पति में खनिजों (जैसे कार्बोनेट, हाइड्रोजन कार्बोनेट, कोयला एवं पेट्रोलियम) के रूप में केवल 0.02% कार्बन उपस्थित है तथा वायुमंडल में 0.03% कार्बनडाइऑक्साइड उपस्थित है। कार्बन एक समान्य तत्व है जो ब्रह्माण्ड में सभी जगह पाया जाता है और विभिन्न प्रकार के यौगिक बनाता है। बहुत से हमारे आस-पास के निर्जीव व सजीव वस्तुएँ कार्बन के बने है जैसे पौधे, जन्तुयें, चीनी, ईंधन, कागज, भोजन, वस्त्र, धागे, दवाइयाँ, सौंदर्य प्रसाधन इत्यादि। ये सभी कार्बनिक यौगिक है जो या तो पौधे से या जीवों से प्राप्त होते हैं। कार्बनिक यौगिकों के रसायन शास्त्र को कार्बनिक रसायन के नाम से जाना जाता है।

15. क्लोरोफॉर्म (Chloroform) का क्वथनांक कितना होता है?

(A) 391K

(B) 334K

(C) 351K

(D) 111K

(B) 334K

क्लोरोफ़ॉर्म (Chloroform) या ट्राईक्लोरो मिथेन (Trichloro methane) एक कार्बनिक यौगिक है, जिसका रासयनिक सूत्र CHCl3 है। क्लोरोफॉर्म एक रंगहीन और सुगंधित तरल पदार्थ होता है जिसे किसी चिकित्सकीय जगत में मरीज को बेहोश कर ऑपरेशन किए जाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था। हालांकि अब इसका इस्तेमाल बंद कर दिया गया है। इसका क्वथनांक 61°C (334K) होता है तथा हिमांक 210K है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Hollywood Movies